अमेज़ॉन कर्मचारियों की प्राइम डे सेल्स पर हड़ताल, कंपनी को नहीं सूझ रहा जवाब

अमेज़ॉन के वेयरहाउस कर्मचारी काम के हालात सुधारने की मांग को लेकर प्राईम डे सेल्स के दिन ही 48 घंटे के लिए हड़ताल पर चले गए।

इससे सोमवार और मंगलवार को अमरीका में अमेज़न का कारोबार ख़ासा प्रभावित रहा। इसका असर अन्य दूसरे पश्चिमी देशों में भी देखने को मिला।

ऑनलाइन रिटेल कंपनी अपनी बिक्री बढ़ाने के लिए हर साल प्राईम डे पर भारी छूट और डिस्काउंट देती है।

बीबीसी के अनुसार, यूनियनों का कहना है कि जर्मनी में 2,000 कर्मचारी हड़ताल पर हैं, जबकि अमेरिका में, मिनेसोटा  सेंटर पर वर्कर छह घंटे की हड़ताल रहेंगे।

ब्रिटेन में अमेज़ॉन कर्मचारियों की सप्ताह भर विरोध प्रदर्शनों की योजना है।

सोशल मीडिया पर सोमवार को कई यूज़र्स ने अमेज़ॉन से सामान न खरीदने की अपील भी की लेकिन यूनियन ने ऐसा नहीं कहा था।

amazon strike @ansley_pentz
अमेज़न हड़ताल से प्राईम डे पर कंपनी का कारोबार प्रभावित रहा। फ़ोटो साभारः @ansley_pentz
 न्यूनतम मज़दूरी पर हुई थी जीत

मिनेसोटा के गोदाम में काम करने वाले एक वर्कर विलियम ने बताया कि उसे 10 घंटे की शिफ़्ट में उसे हर घंटे 332 आइटम उठाने पड़ते हैं।

विलियम ने कहा कि वो सुरक्षित और भरोसेमंद नौकरी चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि “असल में हम चाहते हैं कि वे हमारे साथ इंसानों की तरह व्यवहार हो न कि मशीनों की तरह।” कर्मचारियों ने ‘हम इंसान हैं रोबोट नहीं’ लिखी तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया।

कंपनी ने इस हड़ताल पर कोई टिप्पणी नहीं की बल्कि ये कहा कि वो लोगों को बढ़िया रोज़ग़ार मुहैया करा रही है।

प्राइम डे सोमवार को था जोकि 48 घंटे यानी 16 जुलाई तक चलना था।

अभी हाल ही में कंपनी ने न्यूनतम वेतन बढ़ाकर 15 डॉलर प्रति घंटे किया था क्योंकि कर्मचारियों ने सोशल मीडिया पर एक तगड़ा अभियान चलाया।

इसके बाद सीनेटर बर्नी सैंडर्स जैसे राजनेता भी उनके समर्थन में आ गए और अमेज़न के ख़िलाफ़ अभियोग लाने की धमकी दी थी।

अमेज़ॉन के दुनियाभर में 6.3 लाख कर्मचारी हैं जिनमें से तीन लाख केवल अमरीका में हैं। जर्मनी में अमेज़न के 20 हज़ार कर्मचारी हैं।

amazon strike @jacobinmag
हड़ताल के दौरान कर्मचारियों को संबोधित करती एक महिला कर्मचारी। फ़ोटो साभारः @jacobinmag
दुनिया का सबसे अमीर

पिछले साल अमेज़ॉन ने कुल 235 अरब डॉलर की बिक्री की थी, जबकि 2018 में पूरी दुनिया में ऑनलाइन सेल 524 अरब डॉलर हुई थी।

इस कंपनी के मालिक जेफ़ बेज़ोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं। बेज़ोस ने 1994 में अमेज़ॉन की स्थापना की थी।

फोर्ब्स के मुताबिक 2018 अमेज़ॉन ने 131 अरब डॉलर (क़रीब 9,109 अरब रुपये) की कमाई की थी।

इसी साल अप्रैल में जेफ़ बेज़ोस और उनकी पत्नी मैकेंज़ी के बीच रिकॉर्ड 35 बिलियन डॉलर का तलाक़ समझौता हुआ था।

कर्मचारी और यूनियनों का कहना है कि बॉस जेफ़ बेज़ोस को न्यूनतम मज़दूरी में चंद डॉलर बढ़ाने में भी दिक्कत होती है जबकि कंपनी का मुनाफ़ा और उनकी कमाई का कोई ओर छोर नहीं दिखता।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *