तेलंगाना रोडवेज़ कर्मचारी के इस्तीफ़े की चिट्ठी वायरल, केसीआर को बताया तानाशाह

कर्मचीरियों के किसी गुहार का तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव पर असर नहीं हुआ।

TSRTC के एक कंडक्टर का एक इस्तीफ़ा सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल हुई जिसमें उसने केसीआर को तानाशाह कहा है।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक ख़बर के अनुसार, सूर्यापेट डिपो में काम करने वाले कंडक्टर एल कृष्णा ने खुला इस्तीफ़ा पत्र देकर राज्य सरकार की तीखी आलोचना की।

इसमें उन्होंने लिखा कि खोखले वादे कर केसीआर ने राज्य की जनता को अलग राज्य की मांग को लेकर लड़ने के लिए उकसाया।

कृष्णा ने लिखा है, “हताशा के कारण तेलंगाना में कई लोग आत्महत्या कर रहे हैं और अपनी आवाज़ उठाने वाले कई लोगों को गिरफ़्तार किया जा रहा है। मैं अब आरटीसी में स्वाभिमान के साथ अब और नौकरी नहीं कर पाउंगा।”

उन्होंने पत्र में मांग की है कि इस हालात के लिए ज़िम्मेदार राज्य को अपनी हाउसिंग स्कीम के तहत उसे दो बेडरूम वाला घर देना चाहिए और साथ ही उनके बूढ़े मां बाप को पेंशन देनी चाहिए।

केसीआर पर धोखा देने का आरोप

उन्होंने अपने लिए नई नौकरी देने की भी मांग की।

कृष्णा ने लिखा, “सर, आरटीसी के लोग 15000 रुपये महीने में सम्मानजक जिंदगी जीते रहे। अगर आप हमारी बात सुनने को राजी हुए होते तो हम आप पर अपनी ज़िंदगी न्यौछावर कर देते।”

उन्होंने लिखा कि वो एक ऐसी नौकरी चाहते थे जो उन्हें सम्मानजनक जीवन दे सके और वो अब तेलंगाना में जन्म लेने के लिए पश्चाताप कर रहे हैं।

उहोंने अंत में लिखा है, “अलग तेलंगाना राज्य बनाने के लिए 1200 से अधिक लोगों ने अपनी ज़िंदगी की आहूति दे दी ये भरोसा करके केसीआर हमारा ख्याल रखेंगे। अब हमें पता चला है कि नया राज्य आप जैसे नेताओं के लिए है।”

दो महीने की हड़ताल के बाद यूनियन ने 25 नवंबर को हड़ताल ख़त्म करने का आह्वान किया था उसके बाद 28 नवंबर को सभी 48,560 कर्मचारियों को काम पर वापस लेने के लिए राज्य सरकार राजी हो गई।

इस दौरान चार कर्मचारियों ने आत्महत्या कर ली और 27 कर्मचारियों की विभिन्न बीमारियों के चलते  मृत्यु हो गई।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *