IMPCL घोटालाः पीएफ़ का सवा करोड़ अभी ठेका मज़दूरों को नहीं मिला

उत्तराखंड के रामनगर में स्थित आईएमपीसीएल कंपनी में श्रमिकों के पीएफ़ और ईएसआई घोटाले में ज़ब्त की गई धनराशि अभी तक मज़दूरों में वितरित नहीं की गई है।

पीएफ़ आयुक्त हल्द्वानी के आदेश पर आईएमपीसीएल के प्रबन्धन ने ठेका श्रमिकों के 1.13 करोड़ रु की पीएफ़ राशि को जमा करा दिया है।

इस राशि को ठेका श्रमिकों में वितरित किए जाने की मांग को लेकर ठेका मजदूर कल्याण समिति ने 30 जून को रामनगर के व्यापार भवन में एक सभा की।

ठेका मजदूर कल्याण समिति के अध्यक्ष किसन शर्मा ने कहा कि आईएमपीसीएल प्रबन्धन ने ठेकेदार फर्म शिवालिक सर्विसेज व सुन्दरभूमि सर्विसेज के साथ मिलकर श्रमिकों के वेतन, पीफ़ व ईएसआई की राशि में करोड़ों रुपये का घोटाला किया है।

उन्होंने कहा कि समिति की शिकायत पर उत्तराखंड शासन द्वारा करवाई गयी जांच में सभी आरोप सही पाए गए।

क्या है मामला

आईएमपीसीएल में ठेका मजदूर कल्याण समिति के सचिव शेखर चन्द्र आर्या ने बताया कि ठेका कर्मचारियों ने शिकायत की थी उनके पीएफ़ और ईएसआई में घोटाला हुआ है। इस आधार पर जांच के आदेश दिए गए और पीएफ़ आयुक्त हल्द्वानी को ज़िम्मेदारी सौंपी गई।

चार साल तक चली सुनवाई के दौरान आईएमपीसीएल प्रबंधन, ठेकेदार शिवालिक सर्विसेज और सुन्दरभूमि सर्विसेज को जबाब देने व पीएफ़ जमा किए जाने को लेकर दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए 58 बार मौके दिए गए।

लेकिन इस दौरान ये ठेकेदार संतोषजनक जवाब देने में असफल रहे। बीती 7 मई को पीएफ़ आयुक्त ने आईएमपीसीएल प्रबन्धक को श्रमिकों के पीएफ़ का बकाया 1.13 करोड़ रुपये 15 दिनों के भीतर जमा करने के आदेश दिए थे।

अभी वितरित नहीं हुआ पैसा

शेखर चंद्र आर्या का दावा है कि पीएफ़ कार्यालय ने इस राशि की वसूली कर ली लेकिन इसे अभी तक ठेका श्रमिकों में वितरित नहीं किया गया है।

श्रमिकों ने मांग की है कि पीएफ़ की बकाया राशि उनके खातों में जमा की जाए और जो भी लोग इस घोटाले के लिए जिम्मेदार हैं उनके ख़िलाफ़ आपराधिक मुकदमा दर्ज किया जाए।

इस सभा में राकेश पटवाल, ब्रजेश, ख्याली राम, राजेश पपनै, केशव, गणेश, गीता जोशी, अम्बा देवी, मंजू भट्ट, प्रभा देवी, मुनीष कुमार, सुमन समेत सैकड़ों मज़दूर शामिल होकर अपनी बात रखी।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *