हरियाणा में छात्रों पर लाठीचार्ज का ट्रेड यूनियनों ने किया विरोध

हरियाणा के करनाल में छात्रों पर पुलिस के बर्बर लाठीचार्ज पर ट्रेड यूनियनों रोष ज़ाहिर किया है।

मारुति सुजुकी के लिए पार्ट्स बनाने वाली मानेसर की ऑटो कम्पोनेंट कंपनी बेलसोनिका की यूनियन ने इसकी कड़ी निंदा की है।

एक बयान जारी कर बेलसोनिका यूनियन ने कहा कि यातायात की पर्याप्त सुविधा न होने के कारण छात्रों को बस पर लटक कर जाना होता है, जिस कारण आय दिन दुर्घटनाएं होती हैं।

ऐसे में सरकार को प्रदर्शनकारी छात्रों के साथ संवेदनशील तरीके से पुलिस को पेश आना चाहिए था।

 बस दुर्घटना में छात्र की मौत

असल में बीते गुरुवार यानी 11 अप्रैल को करनाल के आई.टी.आई चौक पर एक छात्र की बस दुर्घटना में घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक, बस में भारी भीड़ होने से छात्र हरियाणा राज्य परिवहन बस की पीछे गेट की तरफ लटक कर सफर कर रहा था।

अचानक बस में  ब्रेक लगने से  छात्र  पिछले टायर के नीचे दब गया तथा उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई।

घटना के बाद सड़क पर बिखरे पड़े पत्थर। फोटो साभार@ दैनिक भास्कर।
घटना के बाद सड़क पर बिखरे पड़े पत्थर। फोटो साभार@” दैनिक भास्कर”।
विरोध कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज

यूनियन के बयान में कहा गया है कि घटना के बाद गुस्साए आई.टी.आई के छात्र-छात्राओं, शिक्षकों तथा कर्मचारियों ने छात्र की मौत पर विरोध जताया।

उन्होंने सरकार के समक्ष उचित यातायत की सुविधा की मांग की। ताकि इस तरह की हादसो से बचा जा सकें।

लेकिन हरियाणा सरकार ने उनकी जायज मांग को नकारते हुए विरोध कर रहे लोगों पर हरियाणा पुलिस से लाठीचार्च करवाया।

यूनियन के अनुसार, हमारे देश में हमेशा से आम जनता की मांगो को नकारा जाता है।

उनकी मांंगो को पूरा करने के बजाए पुलिस के लाठी के दम पर जनता  को दबाने का प्रयास किया जाता है।

उचित यातायात तथा मुआवजे की मांग

बेससोनिका यूनियन (1983) ने इस घटना के बाद हरियाणा सरकार की इस दमनात्मक कार्रवाही की कड़ी निंदा करते हुए।

हरियाणा पुलिस अधिकारियों के ऊपर कार्यवाही की मांग की है।

साथ ही साथ तमाम स्कूली छात्र-छात्राओं के आवागमन के लिए उचित यातायत की व्यवस्था की इंतजमात पर भी जोर दिया।

मृतक के परिवारजनों के जीवनयापन के लिए हरियाणा सरकार से उचित मुआवजें की मांग की है।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *