मनरेगा श्रमिकों को तीन माह से नहीं मिला मज़दूरी, किया विरोध प्रदर्शन

राजस्थान के जैसलमेर के नोख क्षेत्र में मनरेगा श्रमिकों को तीन माह से मजदूरी नहीं मिलने के कारण उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

मज़दूरी के भुगतान नहीं होने के विरोध में श्रमिकों ने मंगलवार को ग्राम पंचायत के सामने विरोध प्रदर्शन किया।

गौरतलब है कि नोख ग्राम पंचायत क्षेत्र के मनरेगा मजदूरों के दो वर्ष से को-ऑपरेटिव सोसायटी में करीब 300 मजदूरों के मजदूरी का भुगतान पूर्व से अटका हुआ है।

बीते तीन महिने से यहां काम कर रहे मजदूरों को  मज़दूरी नहीं मिली है।

मनरेगा ही रोजगार का स्त्रोत

बीते तीन महिने का मज़दूरों का यह बकाया रकम करीब 10 लाख रुपए बताया जा रहा है।

ध्यान देने वाली बात यह है कि मनरेगा ही नोख में रोजगार का सबसे बड़ा साधन है।

लेकिन केवल क्षेत्र के केवल 500 लोगों को ही मनरेगा में रोजगार प्राप्त हैं।

किन्तु उनको भी समय पर मज़दूरी नहीं मिल रही है जिस कारण उन्हें परिवार का पालन पोषण करने में परेशानी हो रही है।

hindi news , today news manrega news
क्लिक न्यूज़ के साभार से
मज़दूरो ने  जताया रोष

लम्बे समय से मजदूरी का भुगतान नहीं होने पर बड़ी संख्या में श्रमिकों ने मंगलवार को ग्राम पंचायत कार्यालय के आगे इकट्ठा होकर

विरोध जताते हुए बकाया मजदूरी देने की मांग की।

पंचायत के सामने उन्होंने अपनी परेशानिया भी रखी।

सांकेतिक चित्र। फोटो साभार ज्यां द्रेज.
सांकेतिक चित्र। फोटो साभार ज्यां द्रेज.
विकास अधिकारी का आश्वासन

इस संबंध में पंचायत समिति जैसलमेर के विकास अधिकारी किशनलाल ने बताया कि मनरेगा के श्रमिकों के भुगतान को लेकर प्रक्रिया पूरी कर दी गई है।

विकास अधिकारी ने शीघ्र ही मजदूरी का भुगतान कर देने का आश्वासन दिया। जिसके बाद श्रमिकों ने विरोध प्रदर्शन समाप्त किया।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *