मारुति, महिंद्रा और टाटा मोटर्स ने प्रोडक्शन रोका

देश की 10 शीर्ष कार और टू-व्हीलर निर्माता कंपनियों में से सात ने घोषणा कर दी है कि वे कई दिनों तक अपने उत्पादन प्लांट्स बंद रखने वाली हैं।

कंपनियों ने ऐसा फैसला इसलिए लिया है क्योंकि कार और टू-व्हीलर्स की कम बिक्री के चलते उनकी इन्वेंटरी अब तक बिकी नहीं है।

कंपनियां पहले उन वाहनों को बेचना चाहती हैं उसके बाद नए वाहनों की उत्पादन करेगी।

इस कदम से भले ही कंपनियों को अपनी इन्वेंटरी खाली करने में मदद मिलेगी, लेकिन ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री अपने ग्रोथ टार्गेट पूरे नहीं कर पाएगी।

30 लाख टू-व्हीलर्स को नहीं मिल रहे खरीदार

इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार जून की शुरुआत में तकरीबन 35000 करोड़ रुपए कीमत के 5 लाख पैसेंजर व्हीकल्स और 17.5 हजार करोड़ के 30 लाख टू-व्हीलर डीलरशिप्स में खड़े हैं।

लेकिन उन्हें ग्राहक नहीं मिल रहा है। प्लांट बंद करने वाली कंपनियों में मारूति सुजुकी, टाटा मोटर्स, महिन्द्रा शामिल हैं।

इन सभी कंपनियों ने मई से जून के बीच अपने प्लांट बंद रखे हैं।

फोटो साभार पत्रिका
फोटो साभार पत्रिका
डीलर्स को हो रहा बड़ा नुकसान

उत्पादन प्लांट्स के बंद होने से मई-जून के बीच इंडस्ट्री का आउटपुट 20-25 फीसदी तक घटने की आशंका है।

लेकिन असल घाटा हो रहा है डीलर्स को, जिनकी इन्वेंटरी में सामान्य से 50 फीसदी तक अधिक वाहन रखे हैं।

उन्हें इन वाहनों पर जीसटी चुकाना पड़ रहा है।

ये कंपनियां बंद करेंगी प्लांट्स

मारुति, महिंद्रा और टाटा मोटर्स ने मई में कई दिनों के लिए प्रोडक्शन रोक दिया था।

ये कंपनियां इस महीने चार से दस दिनों के लिए दोबारा उत्पादन बंद करने जा रही हैं।

इस बार होंडा कार्स इंडिया, रिलॉट-निसान एलिएंस और स्कोडा ऑटो शामिल हैं।

इस साल मई तक हर महीने यात्री व्हीकल मार्केट की सेल गिरी है।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *