वाहनों की बिक्री में 21 सालों की सबसे बड़ी गिरावट

सरकार कुछ भी दावे कर ले लेकिन देश में चल रही आर्थिक मंदी के बुरे हालात किसी से छुपे नहीं हैं।

मंदी का सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव ऑटो बाजार पड़ पड़ा  है। जिसके चलते बड़ी-बड़ी वाहन निर्माता कंपनियां काम बंद करने को मजबूर हो गई हैं।

देश की वाहन निर्माता कंपनियों में लगातार दसवें महीने अगस्त में भी यात्री वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट देखने को मिली।

बीते सोमवार को वाहन निर्माताओं के संगठन सियाम में वाहनों की बिक्री को लेकर आधिकारिक आंकड़े जारी किए।

इन आंकड़ों में अगस्त के यात्री वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट देखने को मिली है।

टू-व्हीलर्स की बिक्री में लगातार गिरावट

आंकड़ो के अनुसार यात्री वाहनों की बिक्री 31.57 फीसदी घटकर 1,96,524 वाहन रह गई। जबकि पिछले साल अगस्त में 2,87,198 वाहनों की बिक्री हुई थी।

भारतीय ऑटोमोबाइल विनिर्माता सोसायटी (सियाम) के सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक अगस्त 2019 में घरेलू बाजार में कारों की बिक्री 41.09 फीसदी से घटकर 1,15,957 कार रह गई।

जबकि एक साल पहले अगस्त महीने में 1,96,847 कारें बिकी थी।

वहीं टू-व्हीलर्स की बिक्री पर भी भारी असर देखने को मिला। आकड़ों के अनुसार टू-व्हीलर की बिक्री 22.24 फीसदी से घटकर 15,14,196 इकाई रह गई।

जबकि एक साल पहले इसी महीने में देश में 19,47,304 दुपहिया वाहनों की बिक्री की गई।

इसमें मोटरसाइकिलों की बिक्री 22.33 फीसदी घटकर 9,37,486 मोटरसाइकिल रह गई जबकि एक साल पहले इसी महीने में 12,07,005 मोटरसाइकिलें बिकी थीं।

वाहनों में भारी छूट के बावजूद भी बिक्री में कमी

मंदी की चपेट में वाणिज्यिक वाहन भी बच नहीं पाए। हालांकि कंपनी ने इससे निपटने के लिए ग्राहकों को कई ऑफर भी दे रही है। लेकिन सारी योजनाएं धरी की धरी रह जा रही है।

खबरों के अनुसार कंपनिया 40 टन से अधिक क्षमता वाले ट्रकों पर 8 से 9 लाख रुपये तक की भारी छूट दे रही हैं। इसके बाद भी ट्रकों की मांग नहीं बढ़ रही है।

आंकड़ों के मुताबिक अगस्त माह में वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 38.71 फीसदी घटकर 51,897 वाहन रही।

आपको बता दें यदि सभी तरह के वाहनों की बात की जाये तो अगस्त 2019 में कुल वाहन बिक्री 23.55 फीसदी घटकर 18,21,490 वाहन रह गई जबकि एक साल पहले इसी माहिने में कुल 23,82,436 वाहनों की बिक्री हुई थी।

इस साल अगस्त में पिछले साल के मुकाबले पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री करीब 30 फीसदी घट गई है।

ऑटो एक्सपर्ट्स के अनुसार मंदी का यह दौर धीरे-धीरे कम होगा। उम्मीद जताई जा रही है कि इस फेस्टिव सीजन में बिक्री के नंबर्स अच्छे आने की उम्मीद है ।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *