टाटा स्टील ब्रिटेन के कारखानों को करेंगी बंद, 400 नौकरियां खत्म

पूरे देश में लगभग सभी सेक्टरों की कंपनियों को आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।

ऐसे में भारत की इस्पात क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी टाटा स्टील ने दक्षिणी वेल्स शहर न्यूपोर्ट में स्थित अपने कारखाने को बंद करने का फैसला किया है।

कंपनी के इस फैसले से करीब 400 नौकरियां पर खतरा मंडरा रहा है।

ओर्ब इलेक्ट्रिकल स्टील्स घाटे में

टाटा स्टील ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि कंपनी लाख कोशिशों के बावजूद भी टाटा स्टील ऑर्ब इलेक्ट्रिकल स्टील के लिए आगे का रास्ता नहीं तलाश पा रही है और इसलिए इसे बंद करने का फैसला लिया गया।

टाटा स्टील के यूरोपीय परिचालन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हेनरिक एडम ने कहा कि ओर्ब इलेक्ट्रिकल स्टील्स घाटे में चल रहा है।

कंपनी के लिए ये समय बहुत चुनौतियों भरा है जिसके चलते आने वाले वर्ष में भी ओर्ब के कारोबार में मुनाफे में लौटने की संभावनाएं दूर-दूर तक नजर नहीं आ रही हैं।

आगे हेनरिक दुख जताते हुए कहते है कि कंपनी बंद करने का फैसला सभी कर्मचारियों के लिए दुख भरा होगा।

कोजेंट यूनिट में करीब 300 कर्मचारी मौजूद

कोंजेट पॉवर इंक की ब्रिक्री के लिए करार टाटा स्टील यूरोप ने सोमवार को बताया था कि उसने अपनी सहयोगी कंपनी कोंजेट पॉवर इंक की बिक्री के लिए जापान की इस्पात क्षेत्र की दिग्गज कंपनी जेएफई शोजी ट्रेड कॉर्पोरेशन के साथ करार किया है।

हालांकि  इस डील का ब्योरा कंपनी ने साझा नहीं किया। कोजेंट यूनिट में करीब 300 लोग काम करते हैं।

सीपीआई, कोजेंट इलेक्ट्रिकल स्टील्स का हिस्सा है जो 5 गैर-प्रमुख कारोबार इकाइयों में आती है।

टाटा स्टील ने यूरोप में मई, 2018 में इसकी बिक्री की घोषणा की थी। टाटा स्टील की अन्य गैर-प्रमुख कारोबारी इकाइयां ब्रिटेन की फर्स्टस्टील, जर्मनी की कालजिप, तुर्की की टाटा स्टील इस्तांबुल मेटल्स और ब्रिटेन की इंजीनियरिंग स्टील्स सर्विस सेंटर हैं।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *