हीरो मोटो कॉर्प के धारूहेड़ा प्लांट ने निकाली वॉलंटरी रिटायरमेंट स्कीम, सिर्फ परमानेंट कर्मचारियों पर लागू

अग्रणी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी हीरो मोटो कॉर्प लिमिटेड के धारूहेड़ा प्लांट में स्वैच्छिक रिटायरमेंट योजना की शुरुआत की है।

पांच मार्च को कंपनी की ओर से जारी सूचना के मुताबिक एम्प्लाई सेपरेशन स्कीम (ईएसएस) पांच से 15 मार्च तक चलेगी।

इसके तहत स्कीम चुनने वाले कर्मचारी को उसके स्थाई होने की मियाद के अनुसार प्रति वर्ष की सैलरी गुणा 3.5 के हिसाब से आर्थिक लाभ मिलेगा।

सूचना में कहा गया है कि ये स्कीम सिर्फ स्थाई कर्मचारियों, जिनकी उम्र 40-57 साल के बीच है, उन्हीं पर ही लागू होगी।

इसके तहत 40-42 साल के लोगों को 4 लाख रु., 43-45 साल वालों को 6 लाख रुपये, 46-48 साल वालों को 7 लाख रुपये और 49-52 साल वालों को 6 लाख रुपये एक्स ग्रैशिया मिलेंगे।

ये भी देखेंः हीरो मोटो कॉर्प के नीमराना प्लांट में छह महीने में ही निकाल दिए जाते हैं मज़दूर

hero moto corp dharuhera
हीरो मोटो कॉर्प लिमिटेड के धारूहेड़ा प्लांट में लगी नोटिस।
रिटायर हुए लोगों की जगह कैजुअल होंगे परमानेंट

कंपनी में सक्रिय ट्रेड यूनियन सूत्रों के अनुसार, इस स्कीम से ऐसे लोगों को फायदा पहुंचेगा जो सालों तक कंपनी में काम करने के बाद अपना काम करना चाहते हैं।

हालांकि ये सरकारी वीआरएस स्कीम जैसी स्कीम नहीं है, जिसमें उस पोस्ट को ही खत्म कर दिया जाता है।

यूनियन प्रतिनिधियों के अनुसार, जितने लोग रिटायरमेंट लेते हैं उतने ही कैजुअल कर्मचारियों को ट्रेनी बना कर उन्हें परमानेंट किया जाता है।

लेकिन ये स्कीम ठेका मज़दूरों पर लागू नहीं है और कंपनी ने बड़े पैमाने पर छह छह महीने के ठेका कर्मियों को रखती है।

वर्कर्स यूनिटी ने अभी हाल ही में कंपनी के नीमराना प्लांट की स्टोरी की थी, जिसमें एक भी परमानेंट कर्मचारी नहीं है।

यहां छह छह महीने के लिए अप्रेंटिस पर वर्करों को रखा जाता है और उन्हें फिर निकाल दिया जाता है।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *