post मज़दूर कविताएं Archives - Workers Unity

अमीरों को दिए डेढ़ लाख करोड़ में जनता के लिए क्या क्या किया जा सकता था?

मंदी की आड़ में मोदी सरकार ने कार्परेट घरानों को डेढ़ लाख करोड़ रुपये की टैक्स छूट दी है। आप

Read more

गांधी ने जुझारू मज़दूर आंदोलन को ख़त्म करने का काम किया

गांधी एक बहुत बड़ी पर्सनालिटी थे। उनके व्यक्तित्व के कई पहलू रहे। लेकिन मज़दूर वर्ग के नज़रिए से उनकी भूमिका

Read more

एक मामूली ऑपरेशन बिना मर गया मेरा एक मज़दूर साथी

(चंद्रा की कविताएं किसी भट्टी से निकले तपते हुए लोहे जैसी हैं। इनमें दुखः, क्षोभ, आक्रोश और वो सारी संवेदनाएं

Read more

आज़ादी को याद करतीं चंद कविताएं और नज़्म

(इस तस्वीर में जो दो बच्चे हैं उनमें से एक नौ साल के हैदर ख़ान का नाम असम में चल

Read more

मां मुझे अपने गर्भ में पालते हुए मज़दूरी करती थी  मैं तब से ही एक मज़दूर हूं :सबीर हका

सबीर हका का जन्‍म 1986 में ईरान के करमानशाह में हुआ. अब वह तेहरान में रहते हैं और इमारतों में निर्माण-कार्य के

Read more