बीजेपी चुनाव से पहले माचिस लेकर खड़ी है: अरुंधति रॉय

3 अगस्त 2018 को संसद मार्ग पर बुद्धिजीवियों, पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के विरोध में आयोजित विरोध प्रदर्शन में जानी-मानी लेखिका अरुंधति राय ने सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा था कि ‘बीजेपी चुनाव से पहले माचिस लेकर खड़ी है.’

हाल ही में गुरुग्राम में एक मज़दूर परिवार के घर में घुसकर परिवार के महिला सदस्यों तक की बेरहमी से पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद कुछ लोग अरुंधति रॉय की इस बात को सच मानने लगे हैं.

उस समय अरुंधति रॉय ने कहा था, “1990 में इस देश में दो ताले खोले गए थे, एक बाबरी मस्जिद का और दूसरा बाजार का। उसी का परिणाम है कि आज पूरे देश के गरीबों का शोषण किया जा रहा है। उनके अधिकारों (ज़मीन, नौकरी, शिक्षा ..आदि) को छिना जा रहा है। हमें समझदारी से काम लेना होगा।”

आपस में लड़ाने की साज़िश

उन्होंने कहा था कि दूसरी तरफ बाबरी मस्जिद का ताला तोड़ने से देश में हिन्दुवादी और फासीवादी एक दूसरे किस्म की लड़ाई को उत्पन्न कर रहे हैं।

अरुंधति राय के अनुसार,  “इस देश में 1947 के बाद एक भी दिन ऐसा नहीं रहा है जब अपने ही देश की जनता के खिलाफ सेना को दमन के लिए खड़ा न किया गया हो।”

उन्होंने पूछा कि ‘जिनका दमन किया गया आखिर वे लोग कौन हैं? आदिवासी, सिख, मुसलमान, दलित और बहुजन लोगों का दमन किया गया।’

अरुंधति आगे कहती हैं, ‘इससे हमें साफ  पता चलता है कि देश केवल चंद ब्राह्मण, बनिया लोगों के हाथों की कठपुतली बन कर रह गया है और वही लोग देश चला रहे हैं।’

‘जब तक हम सभी जातिवाद व पूँजीवाद दोनों को नहीं समझेंगें तब तक हम देश को भी नहीं समझ पाएंगें। इसलिए हमें दोनों से लड़ना होगा व दोनों को समझना होगा।’

भारत जलाओ पार्टी

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आज भारत जलाओ पार्टी बन गई है।

यह पार्टी मुसलमान, हिन्दू, दलित, ओबीसी, हम सब को एक दूसरे के खिलाफ आपस में ही लड़ा रही है।

उन्होंने  आगे कहा कि ‘2008 में जब मैं, साईबाबा, रोना विल्सन, हम सभी ऑपरेशन ग्रीनहंट के खिलाफ लड़  रहे थे उस समय ऑपरेशन ग्रीनहंट के  खिलाफ लड़ने वाले सभी लोगों को जेल में डाल दिया गया था।’

‘जबकि जो जज अमित शाह का पूरा ट्रायल सीबीआई कोर्ट में करवा रहे थे एक दिन अचानक उस जज की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई।

लेकिन फिर भी उसकी कोई कड़ी जाँच नहीं की गई। इसके बदले  ऐसे लोगों को जेल में डाला गया जो अपने हक के लिए आवाज़ उठाते हैं।

वहीं मुझे और मेरे साथ खड़े लोगों को जेल में डाला गया। हमें देशद्रोही कहा गया।

ये भी पढ़ेंः कंपनीराज में जारी है मज़दूरों की छँटनी

मारने वाले संसद में बैठे

अरुंधति राय ने कहा कि जो लोग इस देश में हजारों लोगों को मारने की कार्रवाही करते हैं वही लोग आज संसद में बैठे हुए हैं।

इसलिए हमें ऐसे लोगों को सिर्फ चुनाव में ही नहीं हराना है,  बल्कि उनको ज़ेल में भी भेजने का काम करना है।

उन्होंने तभी चेता दिया था कि ‘अभी आगे आने वाले कुछ महीने बहुत ही खतरनाक  होगें।’

क्या यह लोग तय करेंगे कि कौन असली भारतीय है और किसको वोट देने का अधिकार दिया जाएगा या नहीं?

arundhati roy
arundhati roy
बीजेपी बहुत डरी हुई है

अगर देखा जाए तो यह पूरा देश एक अल्पसंखयकों का देश है।

यदि हम सभी एक दूसरे से आपस में लड़ना शुरू करेगें तो एक हज़ार साल तक आग नहीं बुझेगी। इसलिए हमें समझदारी से काम लेना होगा।

चुनाव से पहले भारत जलाओ पार्टी (भाजपा) हाथ में माचिस लेकर खड़ी है। वे माचिस लेकर हर जगह आग लगाने का काम कर रहे हैं। क्योंकि वे डरे हुए हैं, क्योंकि वे हार के बहुत नज़दीक हैं।

इस पार्टी की साजिशों से बचने के लिए हमें बहुत गौर से देखना होगा कि आगे चुनाव तक क्या होने वाला है।

इस सभी से हम अंदाजा लगा सकते हैं कि वे लोग अपने आप को वापस सत्ता में लाने के लिए बहुत कुछ करेंगें।

वे लोग लव ज़िहाद के नाम पर देश में नफरत फैलाने का काम अधिक कर रहे हैं।

इसलिए इस बार हम लोगों को इनकी कूटनीतियों से बचना होगा और इन्हें सत्ता से हटाना ही होगा।

(वर्कर्स यूनिटी स्वतंत्र निष्पक्ष मीडिया के उसूलों को मानता है। आप इसके फ़ेसबुकट्विटर और यूट्यूब को फॉलो कर इसे और मजबूत बना सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *