post वर्कर्स यूनिटी विशेष Archives - Workers Unity

मज़दूर वर्ग क्यों नहीं बन पाता इस देश का प्रमुख मुद्दा?

आज के दौर में मजदूर वर्ग की पहचान खतरे में है, मजदूरों की इसी बदतर स्थिति के बारे में प्रो.

Read more

गुजरात मॉडल का सचः 17 राज्यों में सबसे कम मज़दूरी गुजरात में

By अमरीश पटेल गुजरात मॉडल में हिंदुओं में मुसमानों का डर बैठाया जा रहा है और बताया जा रहा है

Read more

Exclusive…..न्यूनतम मज़दूरी 25,000 रु. करने की मांग लेकर 3 मार्च को संसद पर जुटेंगे हज़ारों मज़दूर

By संजय सिंघवी पिछले साढ़े चार साल में मोदी सरकार ने श्रम कानूनों को कमज़ोर करने के लिए कोई भी

Read more

‘पेंशन हमारे बुढ़ापे की दवाई, बच्चों की पढ़ाई और हमारी बहनों के लिए रक्षाबंधन की बधाई है मोदी जी!’

नई पेंशन स्कीम (NPS) को लेकर कर्मचारियों में भारी विरोध पनप रहा है। 23 से 25 जनवरी के बीच आर्डनेंस

Read more

‘नीतीश कुमार ने राशन बंद करा दिया, यहां तक कि वृद्धा पेंशन तक बंद कर दिया है’

29 नवंबर 2018 के किसान मार्च में देश भर से हज़ारों किसान आए थे। उसी दौरान वर्कर्स यूनिटी के लिए

Read more

क्या आपको पता है कि पिछले 7 दिनों से मुंबई ठप है? बस सेवा के 32,000 कर्मचारी हड़ताल पर हैं?

क्या आपको पता है कि पिछले 7 दिन से मुंबई की बस सेवा बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट (बीईएसटी- बेस्ट)

Read more

मोदी सरकार की नीति से मज़दूर ही नहीं पूरा देश ख़तरे में पड़ गया है: तपन सेन

सीटू के जनरल सेक्रेटरी तपन सेन का कहना है कि मोदी सरकार की तानाशाही प्रवृत्ति के चलते न केवल मज़दूर

Read more

चार साल में खाड़ी में 28,523 भारतीय मज़दूर मरे, हर एक अरब डॉलर के पीछे 117 भारतीय मज़दूरों की जान गई

चार सालों में खाड़ी देशों में 28,523 भारतीय मज़दूरों ने अपनी जान गंवाई है। संसद के मौजूदा शीतकालीन सत्र में

Read more

‘मज़दूर नं. 1’ का मज़दूर अधिकारों पर निर्णायक हमला, श्रम विभाग ख़त्म, श्रम क़ानून DM के हवाले

श्रम क़ानून और श्रम अधिकारियों के रूप में जो थोड़े बहुत मज़दूरों की सुरक्षा के उपकरण थे, मोदी सरकार ने

Read more

हरियाणा से लेकर उत्तराखंड तक हज़ारों मज़दूरों के लिए काली हो गई दिवाली, डेल्टा के मज़दूर विधायक को देंगे ‘काले दिये’

जब पूरे देश में दीपों का पर्व मनाया जा रहा है, हरियाणा से लेकर उत्तराखंड तक मज़दूर काली दिवाली मनाने

Read more